AYUSHMAN BHARAT-BY The help point

आयुष्मान भारत योजना का लाभ कैसे ले

मोदी सरकार आयुष्मान भारत योजना ( PMJAY ) शुरु कर चुकी है.PMJAY को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से जाना जाता हैं ये योजना गरीबो के लिए बेहद फायदे मंद है ये सेवा एक तरह से इन्सुरेंस है पर इसमे कोई भी पैसा नही देना पड़ता है ये सेवा भारत सरकार द्वारा दी गयी हैं ।ये योजना 10 करोड़ परिवार को मिला है। इस योजना से हम 5 लाख तक का फ्री इलाज करा सकते हैं।
 
Ayushman Bharat Card – Barcode Label Printers, Barcode Scanner, Barcode  Labels, Ferrule Printers, Letatwin Ferrule Printer, ID Card Printers, YMCK  Ribbons, Aadhar Card Printers

इस योजना का क्या है कर्तब्य-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 'जन आरोग्य' योजना आयुष्मान भारत योजना यानी कि(ABY) नाम दिया है. इसे पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर 25 सितंबर से भारत देश मे लागू कर दिया गया था।

सरकार इस योजना को गरीब, उपेछित परिवार औऱ शहरी गरीब लोगों को मुफ्त में स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराई है।

सामाजिक-आर्थिक जाती जनगणना (SECC) 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाकों के 8.03 परिवार और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना (ABY) के दायरे में आएंगे। इस तरह PM-JAY के दायरे में 50 करोड़ लोग आएंगे।

आयुष्मान भारत योजना (ABY) में हर परिवार के सालाना पांच लाख रुपये का मेडिकल इन्शुरन्स मिल रहा है। साल 2008 में यूपीए सरकार द्वारा लांच स्वास्थ्य बीमा योजना (NHBY)  को भी आयुष्मान भारत योजना को (PM-JAY) को मिला दिया गया |

ABY में किसे मिल रहा है फायदे ?

Ayushman Bharat Yojana in Hindi: आयुष्मान भारत योजना का फायदा किसे, कब,  कैसे मिलेगा यहां जानिए

मोदी सरकार की कोशिश यह है कि महिला, बच्चे और सीनियर सिटीजन को ABY में खास तौर
पर शामिल किया जाय. आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होने के लिए परिवार के
आकार और उम का कोई बंधन नहीं है.
सरकारी अस्पताल और पैनल में शामिल अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना (ABY) के
लाभार्थियों का कैशलेस/पेपरलेस इलाज हो सकेगा.

ABY की योग्यता का निर्धारण कैसे होता है?

SECC के आकड़ों के हिसाब से आयुष्मान भारत योजना (ABY) में लोगों को मेडिकल इंश्योरेंस
मिल रहा है. SECC के आकड़ों के हिसाब से ग्रामीण इलाके की आबादी में D1, D2, D3, D4,
D5 और D7 कैटेगरी के लोग आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल किये गए हैं.

आयुष्याला भारत योजना (ABY) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता है:
निप
निक
• खारी, कूड़ा बीनने वाले, परेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले,
सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति
• कस्ट्राशन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लवर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेटर, वेल्डर,
सिक्योरिटी गार्ड, ली और मार होने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति

• स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले. हैंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग, टेलर, ड्राईवर,
रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले लोग आदि आयुष्मान भारत योजना (ABY) में
शामिल होंगे.
इसे भी पढ़ेः आयुष्मान भारत योजना (ABY) से 10,000 लोगों को मिलेगी नौकरी
ABY में अस्पताल में भर्ती की प्रक्रिया
• आयुष्मान भारत योजना (ABY) का लाभार्थी अस्पताल में एडमिट होने के लिए कोई चार्ज नहीं
चुकाएगा. अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज तक का सारा खर्च इस योजना में कवर
किया जायेगा.
• आयुष्मान भारत योजना (ABY) के लाभ में अस्पताल में दाखिल होने से पहले और बाद के
खर्च भी कवर किये जायेंगे.
• पैनल में शामिल हर अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र होगा. वह मरीज की मदद करेगा और
उसे अस्पताल की सुविधाएं दिलाने में मदद करेगा.
• अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होगा जो दस्तावेज चेक करने, स्कीम में नामांकन के लिए
वेरिफिकेशन में मदद करेगा.
• आयुष्मान भारत योजना में शामिल व्यक्ति देश के किसी भी सरकारी/पैनल में शामिल निजी
अस्पताल में इलाज करा सकेगा.

इसे भी पढ़ें. आयुष्मान भारत योजना (ABY) पर इस साल खर्च होंगे 5000 करोड

क्या-क्या हैं ABY में शामिल?

आयुष्मान भारत योजना (ABY) में तकरीबन हर बीमारी के लिए चिकित्सा और अस्पताल में
दाखिल होने का सर्च कवर है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयुष्मान भारत योजना (ABY) में 1354

और ये योजना का लाभ आपको अपने नजदीकी common service center (csc) पर दी जायेगी वह से आप मात्र 30₹ में kyc बनवा कर अपना आयुष्मान कार्ड बनवा सकते है और अगर आपको अभी तक आयुष्मान कार्ड का कोई भी पेपर नही दिया गया है तो अपने नजदीकी आशा से संपर्क करले और ये कार्ड आप अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर बनवा सकते हैं ।।
 Easyways Solution (Csc Center), Sehatpur - Computer Dealers in Faridabad,  Delhi - Justdial


HAND WRITING BY-OM SONI👍

Reactions

Post a Comment

0 Comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();