राशन की दुकानों में खुलेंगे कॉमन सर्विस सेंटर, डीलर बनेंगे वीएलई, गली-मोहल्लों में हो जाएंगे जनता के काम

राशन की दुकानों में खुलेंगे कॉमन सर्विस सेंटर, डीलर बनेंगे वीएलई, गली-मोहल्लों में हो जाएंगे जनता के काम



 केंद्र सरकार ने उचित मूल्य की दुकानों से ई-मित्र केंद्रों को जोड़ने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर खोलने का निर्णय लिया है। डीलरों की आय बढ़ाने और आमजन को नजदीकी राशन की दुकानों पर बैंकिंग, दस्तावेज सहित अन्य सर्विसेज उपलब्ध कराने के मकसद से यह योजना शुरू की गई हैं।

इसके तहत प्रत्येक राशन डीलर की सीएससी आईडी खोली जाएगी और डीलर को वीएलई (वीलेज लेवल इंटरप्रेन्योर) बनाया जाएगा। राशन डीलरों को सीएससी की सर्विसेज की ट्रेनिंग भी दी जाएगी और प्रत्येक सर्विसेज पर होने वाली आय के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। अजमेर सहित अन्य जिलों में जल्द इसे लागू किया जाएगा।

केंद्र सरकार क्यों कॉमन सर्विस सेंटर खोलना चाहती है, ऐसे समझिए...

  • सरकारी विभाग के चक्करों से मिलेगा छुटकारा : केंद्र सरकार कॉमन सर्विस सेंटर के जरिये पूरे देश में हर गली-मोहल्लों में सीएससी की सर्विसेज चाहती है, ताकि केंद्र से लेकर राज्य सरकार की सभी तरह की योजनाओं के साथ ही बैंकिंग व ऑनलाइन सेवाओं का लाभ लोगों को मिल सके। सरकारी विभागों के चक्कर नहीं काटने पड़ें।
  • राशन विक्रेताओं की बढ़ेगी ग्राहकी : राशन डीलर अभी राशन सामग्री पर मिलने वाले कमीशन पर ही निर्भर है, लेकिन सीएससी सर्विसेज शुरू होने पर उनके वार्डों के लोगों को डिजिटल सेवाओं का लाभ मिलेगा। अभी राशन डीलर के पास सिर्फ खाद्य सुरक्षा योजना में पात्र, बीपीएल, एपीएल वर्ग के लोग ही आते हैं, लेकिन डिजिटल सेवाएं शुरू होने पर हर व्यक्ति डीलर के पास आएगा। इससे राशन विक्रेताओं की आय में बढ़ोतरी होगी।
  • xxxxxxx
  • इन सेवाओं का मिलेगा लाभ : आम नागरिकों का पैन कार्ड, आधार से बैंकिंग सेवा, पैसा जमा कराना, निकासी, रेलवे, टिकट, एयरपोर्ट, पासपोर्ट सेवा, बीमा योजना, सभी तरह के बिल जमा करना, फास्टैग देना और रिचार्ज करना,केंद्र सरकार की योजनाओं का फायदा, एफएसएसएआई के तहत रजिस्ट्रेशन, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, ई-डिस्ट्रिक्ट सर्विस, डीजीपे, वाहन लोन, पीएम किसान केसीसी योजना, टेलीमेडिसिन सर्विस सहित अन्य सुविधाएं एक ही छत के नीचे मिलेंगी।
Reactions

Post a Comment

0 Comments